किसानों पर राजद्रोह के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन, हरियाणा के सिरसा में हाई अलर्ट

किसानों पर राजद्रोह के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन, हरियाणा के सिरसा में हाई अलर्ट

Share this News

11 जुलाई को हरियाणा विधानसभा उपाध्यक्ष की गाड़ी पर पथराव किया गया था

हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर और बीजेपी नेता रणबीर गंगवा पर कथित हमले मामले में किसानों पर राजद्रोह की धाराओं में केस दर्ज करने का मामला गर्माता जा रहा है. राजद्रोह में गिरफ्तारी के विरोध में किसानों ने शनिवार को प्रदर्शन की तैयारी की है. किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर हरियाणा के सिरसा में अर्धसैनिक बलों की भारी तैनाती की गई है. सिरसा को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. रविवार (11 जुलाई) को हरियाणा विधानसभा उपाध्यक्ष की गाड़ी पर पथराव किया गया था. इस मामले में गुरुवार को छापेमारी करके पांच किसानों को गिरफ्तार किया गया है.

छतरपुर में मिठाई कि दुकान में हुआ 20 मिनट में 5 सिलेंडर ब्लास्ट,देखिए ब्लास्ट का पूरा विडियो

दिल्ली से करीब 250 किलोमीटर दूर स्थित सिरसा किसानों की बैठक से पहले हाई अलर्ट पर है. किसान नेताओं की मांग है कि गिरफ्तार लोगों को रिहा किया जाए. किसान पुलिस अधीक्षक के दफ्तर का घेराव करने की भी योजना बना रहे हैं. भारतीय किसान यूनियान के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के भी इस प्रदर्शन में शामिल होने की संभावना है.

विवादास्पद कृषि कानूनों के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के दौरान रविवार को भाजपा के रणबीर गंगवा पर कथित रूप से हमला किया गया था और उनके आधिकारिक वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था.

भारतीय सेना में पकड़ाया पाकिस्तानी जासूस,सब्जी सप्लाई करने का करता था काम..

रणबीर गंगवा की कार पर हमले की घटना के संबंध में सिरसा पुलिस ने विभिन्न आरोपों में सौ से अधिक प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है.  धारा 124 (ए) (राजद्रोह) को भी प्राथमिकी में जोड़ा गया है. माना जा रहा है कि नवंबर अंत से विवादास्पद कानूनों का विरोध कर रहे किसानों पर पहली बार देशद्रोह का आरोप लगाया गया है.

https://www.instagram.com/p/CRWB848hIVI/?utm_source=ig_web_copy_link

CBSE 10th क्लास के सैंपल पेपर जारी,ऐसे करें डाउनलोड Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा।