भोपाल।

Advertisement
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में ब्लास्ट होने से लोग दहशत में आ गए। ब्लास्ट में पांच लोगों के घायल होनें की खबर है। बताया जा रहा है कि ब्लास्ट से कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई। धमाका इतना तेज था कि इसकी आवाजें काफी दूर तक सुनाई दी। स्थानीय लोगों का कहना है कि जैसे ही ब्लास्ट हुआ हम से घरों से निकल कर बाहर की ओर भागे। किसी को कुछ पता नहीं था कि आखिर मामला क्या है। लोगों ने बताया कि ब्लास्ट से घर की दीवारें तक हिल गई।

मध्यप्रदेश में होमगार्ड सैनिकों को तीन माह से वेतन नहीं मिला वेतन

पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया
जानकारी के अनुसार पुराने भोपाल के इतवारा चौराहे पर एक बम की पेटी जो चल नहीं रही थी। आसपास के कुछ बच्चों ने पेट्रोल डालकर पेटी में आग लगा दी जिसके कारण हुआ धमाका हो गया। धमाके में 5 बच्चें घायल है। 2 घायलों को चिरायु में 3 को एलबीएस में एडमिट किया गया है। इस घटना में पांच लोगों के घायल होनें की खबर है और कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई है। बताया जा रहा है किे तलैया पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया। घटना रविवार रात 3 बजे की बताई जा रही है।

bhopal_5281762-m.jpg
पुलिस कर रही जांच
तलैया पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर ब्लास्ट की जांच शुरू कर दी है। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही पता लगा लिया जाएगा कि मामला क्या है।

Diwali 2019 : इस बार ट्रेडिंग रंगोली डिजाइन से घर को बनाए और सुंदर

तेज आवाज के साथ धमाका, 2 की मौत
इसके पहले 18 अक्टूबर को प्रदेश के गुना जिले के नदी मोहल्ले की संकरी गली में तेज आवाज के साथ धमाका हुआ था।। आवाज सुनते ही आसपास के लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। धमाके से अवैध पटाखा फैक्ट्री के लिए डाली गई टीन शेड उड़कर पेड़ से टंग गई थी। फैक्ट्री के नीचे की छत भी उड़ गई और उसमें रखी अलमारी उछलकर पटाखा फैक्ट्री स्थल पर पहुंच गई थी।

अयोध्या पर फैसले से पहले पीएम मोदी की बयानबाजों को नसीहत, एकता का स्वर देश की बड़ी ताकत

अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हो गया था

कैंट थानान्तर्गत नदी मोहल्ले में हुए इस अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हो गया था, जिसमें चार लोग घायल हो गए थे, जिनमें से दो की मौत हो गई थी, दो जिला अस्पताल में दाखिल होकर जिदंगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं। हैरानी तो इस बात की है कि यह अवैध पटाखा फैक्ट्री कैंट पुलिस थाने की नाक के नीचे यानी मात्र सौ मीटर दूरी पर संचालित हो रही थी। सवाल उठता है कि कैंट पुलिस थाने को या तो इस अवैध पटाखा फैक्टरी के संचालित होने की खबर नहीं थी, या उनकी सांठगांठ से ही यह फैक्ट्री संचालित हो रही थी

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply