पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक घोटाले के खिलाफ सोमवार को प्रदर्शन कर रहे मुंबई के संजय गुलाटी की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, गुलाटी और उनके परिवार केबैंक में करीब 90 लाख रुपए जमा थे। संजय ओशिवारा इलाके के तारापोरवाला गार्डन के रहने वाले थे। परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं।
IMF बना भारत की GDP का ना बढ़ने का कारण, मोदी सरकार को बढ़ा झटका.

संजय की सोसाइटी केसचिव यतींद्र पाल ने बताया, ‘‘वे जेट एयरवेज में काम करते थे। पहले संजय की नौकरी चली गई और अब उनकी बचत भी बैंक में जब्त है। उन्हें सिर्फ थायरॉयड की समस्या थी। सोमवार को संजय जमाकर्ताओं द्वारा किए गए एक विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। बैंक में पैसा फंसने के कई प्रदर्शनकारी नाराज थे। दोपहर करीब 3.30 बजे संजय वहां से लौटे और सो गए। करीब 4.45 बजे

मप्र में दर्दनाक हादसा, हॉकी खिलाड़ियों की कार दुर्घटनाग्रस्त, 4 की मौत
उन्होंने अपनी पत्नी को खाना परोसने के लिए कहा। जब वह खाना खा रहे थे, इसी दौरान गिर पड़े।’’

पाल ने कहा, घर में संजय की पत्नी अकेली थीं। उन्होंने मुझे फोन किया। हम संजय को कोकिलाबेन अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मैंने हॉस्पिटल से ही पुलिस को फोन किया। संजय के माता-पिता बेंगलुरु में रहते हैं।

क्या है पीएमसी बैंक घोटाला?
बैंक में लोन घोटाले की वजह से आरबीआई ने पिछले महीने पीएमसी पर 6 महीने का प्रतिबंध लगा दिया और ग्राहकों के लिए रकम निकासी की सीमा 1000 रुपए तय कर दी थी। बाद में ये लिमिट 10 हजार और फिर 25 हजार और सोमवार को 40 हजार रुपए की गई। प्रतिबंध लागू रहने तक खाताधारक बैंक से केवल 40 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे। घोटाले की वजह से हजारों खाताधारकों का पैसा बैंक में फंस गया है। आरबीआई के आदेश के खिलाफ खाताधारक लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

https://youtu.be/Avq6CqRweSQ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here