पहले भी हो चुके हैं हाथियों के हमले
पहले भी हो चुके हैं हाथियों के हमले

छत्तीसगढ़ के उत्तर में घने जंगल हैं. जिसमें सरगुजा, कोरबा, रायगढ़, जशपुर और कोरिया जिले शामिल हैं. यहां पहले भी जंगली हाथियों  के हमले की कई घटनाएं देखी गई हैं.
Advertisement

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में अलग-अलग घटनाओं में जंगली हाथियों ने दो महिलाओं को कुचल कर मार डाला. वन अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इन दो महिलाओं के परिजनों के तत्काल 25-25 हजार रुपए की राहत धनराशि दी गई है. इसके अलावा मुआवजे की राशि सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद वितरित की जाएगी.

पुलिस मुठभेड़ में मारा गया 1 लाख का इनामी बदमाश, 2 पुलिसकर्मी हुए घायल; AK-47, पिस्टल समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद

हाथी ने सोते हुए परिवार पर किया हमला

वन अधिकारी ने बताया कि मंगलवार देर रात करीब चार हाथियों ने कापू वन क्षेत्र के चिखलपानी गांव में प्रवेश किया और इंजोरी बाई (70) और उनके परिवार के सदस्यों पर उस वक्त हमला कर दिया, जब वह अपनी झोपड़ी में सो रहे थे. अधिकारी ने बताया कि इस हमले में महिला की मौत हो गई, जबकि परिवार के अन्य सदस्य भागने में सफल रहे.

25 हजार की राहत राशि वितरित

वहीं छतासराय गांव में अपने घर में सो रही सबीना बाई (30) की हाथियों के झुंड के हमले में मौत हो गई थी. मृतका के पति ने बताया कि हमले के दौरान वह भाग गया था, जिससे वह बच गया. वहीं वन अधिकारी ने बताया कि मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रुपए की प्रारंभिक राहत राशि दी गई है, शेष मुआवजा उचित औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद वितरित किया जाएगा.

बैतूल: महिला ने प्रेमी के साथ मिल की पति की हत्या,मुंह दबा चाकू से किए 19 वार

पहले भी हुए हाथियों के हमले

दरअसल छत्तीसगढ़  के उत्तर में घने जंगल हैं. जिसमें सरगुजा, कोरबा, रायगढ़, जशपुर और कोरिया जिले शामिल हैं. यहां पहले भी हाथी के हमले की कई घटनाएं देखी गई हैं. इन हमलों में अक्सर लोगों के घायल होने और मौत की खबरें आती हैं.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply