Share this News

कोरोना वायरस ल़कडाउन की वजह से भारत में फंसे यूनाइटेड किंगडम (यूके) के लगभग 271 नागरिकों शनिवार को वापस उनके देश भेज दिया गया। अमृतसर के श्री गुरु राम दास जी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Sri Guru Ram Dass Jee International Airport) से एक विशेष ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच रवाना हुई।

लॉकडाउन के बीच ब्रिटिश नागरिक कफी दिनों से यहां फंसे हुए थे। ब्रिटेन सरकार ने भारत सरकार के साथ मिलकर फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए एक विशेष उड़ान शुरू की है। यूके के नागरिक अपनी सरकार से खुश दिखे, जिन्होंने अपने फंसे हुए नागरिकों को निकालने के लिए एक पहल की है।

उड़ान भरने से पहले एएनआई से बात करते हुए, यूके नेशनल के शिंगारा सिंह ने कहा, ‘मैं 24 जनवरी को यहां आया था। लॉकडाउन लागू होने के बाद हमें यहां रहना पड़ा। हम सहायता के लिए भारतीय नागरिकों को धन्यवाद देना चाहते हैं। अन्य देशों की तुलना में भारत वास्तव में कोरोना संकट के बीच अच्छा कर रहा है।’

ब्रिटेन के एक अन्य नागरिक, बलवंत सिंह ने एएनआई को बताया, ‘मैं 26 फरवरी को यहां आया था, मैं ब्रिटिश सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं। हम इतने तनाव में थे। मैं सभी से अपने घरों में रहने का अनुरोध करना चाहूंगा।’

इससे पहले 23 अप्रैल को कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण भारत में फंसे करीब 250 ब्रिटिश नागरिकों को विशेष ब्रिटिश एयरवेज की उड़ान में अमृतसर के श्री गुरु राम दास जी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उनके देश के लिए रवाना किया गया था।

https://youtu.be/gMONbnZ4ops