मुंबई. बॉलीवुड के महानायक कहे जाने वाले एक्टर अमिताभ बच्चन को सिनेमा जगत का सबसे बड़ा पुरस्कार दादा साहेब फाल्के से नवाजे जाने के लिए सरकार द्वारा ऐलान किया गया है। इस बात की जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने दी। भारत सरकार की ओर से भारतीय सिनेमा में आजीवन योगदान के लिए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार दिया जाता है। ये वार्षिक पुरस्कार है। इस पुरस्कार की शुरुआत 1969 में हुई थी। इस साल दादा साहब फाल्के का जन्म शताब्दि वर्ष था। अभिनेत्री देविका रानी को पहला दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिला था। इस पुरस्कार के अंतर्गत विजेता को दस लाख रुपए नकद, एक गोल्ड मेडल व एक शॉल प्रदान की जाती है। 2017 में भारत सरकार ने विनोद खन्ना को ये पुरस्कार दिया था। नागा साधु बने सैफ मचा रहे हैं कत्लेआम

Advertisement

कौन थे दादा साहेब फाल्के

दादा साहेब फाल्के ने भारत की पहली साइलेंट फिल्म ‘राजा हरिश्चंद्र’ बनाई थी। फाल्के का जन्म अप्रैल 1870 में एक मराठी परिवार में हुआ था। उन्होंने नासिक में पढ़ाई की। इसके बाद वे मुंबई में सर जेजे स्कूल ऑफ आर्ट स्कूल में नाटक और ट्रेनिंग ली। इसके बाद वे जर्मनी चले गए। वहां उन्होंने फिल्म बनाना सीखा। वहां से लौटने के बाद उन्होंने पहली फिल्म हरिश्चंद्र बनाई।

https://youtu.be/iMKWlblLO_A

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply