Advertisement

मुंबई: एयर इंडिया (Air India) ने 30 अप्रैल तक के लिए इटली (Italy), फ्रांस (France), जर्मनी (Germany), स्पेन (Spain), इजरायल (Israel), दक्षिण कोरिया (South Korea) और श्रीलंका (Sri Lanka) के लिए अपनी उड़ानें रद करने का फैसला किया है। एयर इंडिया के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए सरकारी विमानन कंपनी ने इन देशों के लिए फ्लाइटें रद की हैं।

5 ब्वॉयफ्रेंड वाली लड़की को चांटा मारने वाले ब्वॉयफ्रेंड पर भड़की नेहा धूपिया, अपशब्द कहने पर ट्रोेल हुईं..

एयर इंडिया ने यह कदम उस घोषणा के बाद उठाया है जिसमें उसने कहा था कि वह कुवैत जाने वाली सभी फ्लाइटें 30 अप्रैल तक रद कर रही है। हाल ही में एयर इंडिया ने इटली और फ्रांस समेत अधिकांश यूरोपीय देशों के लिए सेवाएं रद कर दी थी। एयर इंडिया की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि उसने इटली, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इजरायल, दक्षिण कोरिया और श्रीलंका के लिए सेवाएं अस्‍थाई तौर पर निलंबित की हैं।

कोरोना का कहर : कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थान बंद, छात्रों को वापस लौटाया घर..

बीते बुधवार को सरकार ने राजनयिकों को छोड़कर टूरिस्ट समेत लगभग सभी तरह के वीजा को 15 अप्रैल तक रद कर दिया था। यह आदेश 13 मार्च से प्रभावी हो गया था। म्यांमार से लगती सीमा को भी सील कर दिया गया है। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि कोरोना वायरस की महामारी के चलते विदेशों से लोगों के आगमन पर प्रतिबंध के फैसले से पर्यटन और विमानन क्षेत्र को करीब 8,500 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ सकता है।

CM कमलनाथ ने भाजपा को दी फ्लोर टेस्ट की चुनौती..

उल्‍लेखनीय है कि भारत में हर माह करीब 10 लाख विदेशी पर्यटक आते हैं जिससे हर साल करीब 2,200 करोड़ रुपये की आमदनी होती है। कोरोना वायरस का असर केवल घरेलू पर्यटन उद्योग पर नहीं पड़ रहा है। वरन विदेशों में भी इसका भारी असर दिख रहा है। ब्रिटेन में साधारण बीमा कंपनियों ने यात्रा बीमा की बिक्री को अस्थायी तौर पर रोक दी है। यही नहीं होटल कमरों की बुकिंग भी रद्द होने का सिलसिला जारी है जो 80 फीसद के स्तर तक पहुंच गई है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply