मध्य प्रदेश में कोरोना अब भी बेलगाम है। यहां एक्टिव केस का आंकड़ा 92 हजार के पार हो चुका हैं। सरकार ने अनुमान लगाया है कि प्रदेश में कोरोना के एक्टिव केस 1 लाख हो जाएंगे। इसे ध्यान में रखकर ही ऑक्सीजन की आपूर्ति का रोडमैप तैयार किया गया है। जिसके तहत 26 अप्रैल से 1 मई तक भोपाल, इंदौर और ग्वालियर से वायुसेना के विमान बोकारो व जामनगर तक टैंकर पहुंचाएंगे। ये टैंकर ऑक्सीजन लेकर सड़क मार्ग से मध्य प्रदेश के विभिन्न शहरों में पहुंचेंगे।

Advertisement

इंदौर का चिरायु अस्पताल बना अखाड़ा, मरीज़ों के परिवार ने डॉक्टरों से की मारपीट

भोपाल से सोमवार शाम वायुसेना का एक विमान ने खाली टैंकर लेकर गुजरात के जामनगर के लिए उड़ान भरी। यह टैंकर ऑक्सीजन लेकर मंगलवार को सुबह तक वापस भोपाल पहुंचेगा। इसी तरह इंदौर और ग्वालियर से वायुसेना अपनी सेवाएं दे रही हैं। ये विमान जामनगर के अलावा बोकरो प्लांट तक खाली टैंकर पहुंचाने में मदद कर रहे हैं। सरकार के नए प्लान के मुताबिक भोपाल और इंदौर में 1 मई तक हर रोज 2-2 टैंकर से ऑक्सीजन की सप्लाई मंगलवार से शुरु हो गई है।

लगभग 32 घंटों से लगी आग अब शहरों तक पहुंची, वायुसेना के हेलीकॉप्टर कर रहे बुझाने में मदद

30 अप्रैल तक 300 टैंकर्स की जरुरत

जिस तरह से एक्टिव केस बढ़ते जा रहे हैं और गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन की जरुरत पड़ रही है। ऐसे में 30 अप्रैल तक 250 से 300 टैंकर की जरुरत है। ताकि मांग के अनुरूप सप्लाई हो सके। वर्तमान में 180 से ज्यादा टैंकर ऑक्सीजन की सप्लाई करने के लिए दौड़ाए जा रहे हैं।

दिल को झकझोर देने वाली तस्वीर: पिता के शव को कार की छत पर बांधकर बेटा पहुंचा बैकुंठधाम

यह है प्लान

सरकार ने ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए नया रूट मैप तैयार किया है। इसके तहत प्रदेश के तीन बड़े शहरों इंदौर, भोपाल और ग्वालियर में 1 मई तक ऑक्सीजन की सप्लाई आईनॉक्स बोकारो, झारखंड और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, जामनगर से होगी। ये निर्णय शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कोर ग्रुप की बैठक में लिया गया था।

कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार के नाम पर 25 हजार रूपये की ऑनलाइन ठगी, जानिए क्‍या है पूरा मामला ?

कुक्कुट विकास निगम के 4 नाइट्रोजन टैंकर बने सहारा
ऑक्सीजन के भीषण संकट के बीच मप्र राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम के 4 लिक्विड नाइट्रोजन टैंकर राज्य सरकार के लिए बड़ा सहारा बन गए हैं। निगम ने पिछले दिनों अपने चारों को टैंकर ऑक्सीजन परिवहन के लिए राज्य सरकार को उपलब्ध करा दिए। भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और सागर स्थित निगम के केन्द्रों से यह टैंकर ऑक्सीजन लेने के लिए उड़ीसा की अंगुल स्थित रिफायनरी के लिए रवाना हो गए हैं। चारों टैंकरों की क्षमता 22 मीट्रिक टन है। भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और सागर केन्द्रों के टैंकरों से इन्हीं शहरों में ऑक्सीजन लेकर पहुंचेंगे।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply