कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के बीच रविवार को उज्जैन शहर में लॉकडाउन रहा। इस दौरान सड़कों पर आवाजाही पर पूरी तरह प्रतिबंध था। नौ महीने 21 दिन के बाद महाकाल मंदिर भी बंद रहा। यहां विभिन्न द्वारों पर ताला लगा दिया गया था। रात को प्रतीकात्मक रूप से होलिका दहन हुआ। केवल पुजारी शामिल हुए। महाकाल को संंध्‍या आरती में गुलाल अर्पित क‍िया।

Advertisement

आज किस मुहूर्त में होगा होलिका दहन ,जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

सोमवार को पहली बार मंदिर में बिना भक्तों को होली मनेगी। केवल पुजारी भगवान को गुलाल अर्पित करेंगे। शहर में लॉकडाउन सुबह छह बजे तक प्रभावी रहेगा। बता दें कि जिले में 15 दिन से कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। मार्च में 830 नए मरीज मिल चुके हैं, वहीं छह संक्रमितों की मौत हुई है। 581 सक्रिय मरीजों का इलाज जारी है। स्थिति को देखते हुए शासन ने शुक्रवार को लॉकडाउन का निर्णय लिया था।

RRB NTPC 2021: उम्मीदवारों की सुविधा के लिए रेलवे चला रहा ये स्‍पेशल ट्रेनें

शनिवार को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में यह तय हुआ कि लॉकडाउन केवल उज्जैन शहर में रहेगा। नागदा, खाचरौद, बड़नगर आदि तहसील मुख्यालयों को इससे छूट दी गई। रेलवे स्टेशन पर भटकते रहे यात्री, ऑटो वालों ने 500 से एक हजार रुपये तक लिए लॉकडाउन के दौरान रविवार को रेलवे स्टेशन पर लोगों को खासी परेशानी हुई। ट्रेन से उज्जैन पहुंचे लोग ऑटो, मैजिक वाहन, बस की तलाश करते रहे।

यात्रियों को कोई साधन नहीं मिला। कुछ ऑटो वाले मौजूद थे। उन्होंने फायदा उठाते हुए भैरवगढ़ आदि क्षेत्र जाने के लिए यात्रियों से 500 रुपये से लेकर एक हजार रुपये तक लिए। कई यात्रियों ने पैदल ही अपने घर का सफर तय किया।

महाकाल के आंगन में पहली बार बिना भक्तों के मनी होली

राजाधिराज भगवान महाकाल के आंगन में रविवार को ज्ञात इतिहास में पहली बार बिना भक्तों के होली मनाई गई। संध्या आरती में पुजारियों ने भगवान महाकाल को गुलाल अर्पित कर होली मनाई। इसके बाद परिसर में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ होलिका का पूजन कर दहन किया।

नाराज पत्नी को मनाने आये पति के साथ दर्दनाक घटना, पत्नी ने ब्लेड से गुप्तांग काटा

सोमवार तड़के चार बजे भस्मारती में भी बिना भक्तों के होली मनाई जाएगी। राजाधिराज टेसू के फूलों से बने रंग से होली खेलेंगे। सोमवार तड़के भस्मारती में पुजारी अवंतिकानाथ के साथ हर्बल गुलाल से होली खेलेंगे। मंदिर प्रशासन ने पुजारी, पुरोहितों के व्यक्तिगत होली खेलने पर रोक लगाई है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply