4 महीने में बद्रीनाथ धाम पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु, अब तक के रिकॉर्ड टूटे

4 महीने में बद्रीनाथ धाम पहुंचे 10 लाख श्रद्धालु, अब तक के रिकॉर्ड टूटे

Share this News

बद्रीनाथ धाम यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह बढ़ा है. इसी का नतीजा रहा कि पिछले चार महीने में 10 लाख से अधिक श्रद्धालु बद्रीनाथ धाम पहुंचे हैं.

badrinath55_1569163120_618x347.jpeg

इसके साथ ही बद्रीनाथ धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का रिकॉर्ड टूट गया. लोकसभा चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद मई महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बद्रीनाथ धाम पहुंचे थे और भगवान बद्री यानी विष्णु की पूजा अर्चना की थी. पीएम मोदी के पूजन के दौरान पुरोहितों ने वैदिक मंत्रोच्चार किया था.

Howdy Modi : ह्यूस्टन में ट्रैफिक जाम, डेढ़ घंटे बाद मोदी का सबसे बड़ा शो..

मालूम हो कि उत्तराखंड की गढ़वाल पहाड़ियों में स्थित बद्रीनाथ धाम के कपाट 10 मई को वैदिक मंत्रोच्चारण और अनुष्ठानों के बाद श्रद्धालुओं के लिए खोले गए थे. भगवान बद्री (विष्णु) की मूर्ति को मंदिर के गर्भगृह में स्थापित किया गया. इससे पहले मूर्ति को यहां ‘जय बद्री विशाल’ के जयकारों के बीच धार्मिक जुलूस में लाया गया.

Howdy Modi: जर्मनी के फ्रेंकफर्ट में पीएम मोदी का टेक्निकल हॉल्ट, दो घंटे के बाद होंगे यूएस रवाना..

पहले दिन करीब 10,000 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए थे. मंदिर छह माह तक खुला रहता है और उसके बाद एक धार्मिक रिवाज के तहत मूर्ति को जोशीमठ शहर के नरसिंह मंदिर ले जाया जाता है. चारों हिंदू धामों बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के खुलने से श्रद्धालुओं के बीच चारधाम यात्रा को लेकर खासा उत्साह देखा गया. हर दिन सैकड़ों श्रद्धालु इन चारों धामों का दर्शन कर रहे हैं

https://www.youtube.com/watch?v=-ES-gR5VrVQ

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..