Share this News

बांग्लादेशी युवक नदी पार करने के बाद करीमगंज जिले के मुबारकपुर इलाके में पहुंचा। इस जगह से बांग्लादेश महज 4 किलोमीटर दूर है।

करीमगंज (असम).. बांग्लादेश में कोरोना के इलाज के लिए पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं। इसकी बानगी रविवार सुबह देखने को मिली। तेज बुखार से तड़प रहा बांग्लादेशी युवक तैरते हुए कुशियारा नदी पार करके असम की सीमा में दाखिल हो गया। यहां करीमगंज जिले के मुबारकपुर इलाके में पहुंचने के बाद उसने ग्रामीणों से खुद के कोरोना संक्रमित होने की बात कही। लोगों से खुद का इलाज कराने को बोला। इससे ग्रामीणों के बीच हड़कंप मच गया। सूचना पाकर बीएसएफ के जवान पहुंच गए और उसे हिरासत में ले लिया। युवक की तलाशी ली गई और फिर बांग्लादेशी सेना को बुलाकर उसे सौंप दिया गया। युवक की पहचान अब्दुल हक के रूप में की गई। उसकी उम्र 30 साल बताई जा रही है। वह बांग्लादेश के सुनामगंज जिले का रहने वाला है। वहां से करीमगंज का मुबारकपुर इलाका महज चार किलोमीटर दूर है।

कोरोना के बारे में नहीं मालूम, लेकिन वह तेज बुखार से पीड़ित था

https://www.instagram.com/p/B_eMuMcp_sL/?igshid=4lb78d7uek5q


सिलचर में बीएसएफ के प्रवक्ता और डीआईजी जेसी नायक ने बताया, ”बांग्लादेश नागरिक कुशियारा नदी तैरकर पार कर गया, जो दोनों देशों की सीमाओं के बीच में है। रविवार सुबह करीब 7.30 बजे वह भारतीय सीमा में दाखिल हुआ। गांव वालों ने उसे देखा तो उन्होंने उसे वहीं रोक दिया और हमें सूचना दी।” नायक ने बताया, ”उसे कोरोना था या नहीं, इसके बारे में जानकारी नहीं है। उसे तेज बुखार था। देखने में अस्वस्थ नजर आ रहा था और ठीक से बोल भी नहीं पा रहा था। उसका दावा था कि वह कोरोना से संक्रमित है और भारत में इलाज कराने के लिए नदी पार करके आया है।”https://youtu.be/2Edca4ejjzA

Jio-Facebook हर दिन दे रहे 25 जीबी फ्री डेटा, जानें क्या है सच?