हादसे में घायल की जान बचाने पर मिलेगा 5 हजार का इनाम
हादसे में घायल की जान बचाने पर मिलेगा 5 हजार का इनाम

सड़क हादसे में मृत्युदर में कमी लाने के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने गुड समेरिटन (नेक व्यक्ति) स्कीम लागू कर दी है
Advertisement

देश में बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं में मृत्युदर में कमी लाने के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने गुड समेरिटन (नेक व्यक्ति) स्कीम लागू कर दी है। इसके तहत सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को बचाने का कार्य करने वाले गुड समेरिटन को 5 हजार रुपए की नगद प्रोत्साहन राशि व प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा। योजना को प्रोत्साहन अवाॅर्ड नाम दिया गया है।

दशहरे के चलते बंद रहेंगें भोपाल का थोक किराना बाजार,हनुमानगंज, जुमेराती और जनकपुरी में नहीं खुलेंगी दुकानें

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान जी जनार्दन ने बताया कि केंद्र सरकार के निर्देश पर यह योजना मध्य प्रदेश में 15 अक्टूबर 2021 से लागू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों को गुड सेमेरिटन सीधा अस्पताल/ट्राॅमा केयर सेंटर ले जाता है, तो उस व्यक्ति के बारे में डॉक्टर द्वारा स्थानीय पुलिस को सूचित किया जाएगा। योजना के संबध में सभी जिलाें के एसपी को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

आठनेर में इलाज करा लौट रहे 2 वर्षीय बच्ची और उसके पिता की अज्ञात वाहन ने टक्कर मार ली जान

ऐसे करेंगे आवेदन

उन्होंने बताया कि पुलिस द्वारा गुड सेमेरिटन का पूर्ण पता, घटना का विवरण, मोबाइल नंबर इत्यादि अधिकृत लैटरपैड पर निर्धारित प्रारूप गुड सेमेरिटन और जिला अप्रेजल कमेटी को भेजी जाएगी। ऐसे मामलों को परीक्षण करने के लिए जिला स्तर पर कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी, जिसमें एसपी, सीएमएचओ व जिला परिवहन अधिकारी सदस्य होंगे।

ये कमेटी प्रकरणों की समीक्षा कर अवाॅर्ड देने का निर्णय लेगी। सूची राज्य परिवहन आयुक्त को भेजी जाएगी। राज्य परिवहन आयुक्त द्वारा सीधे गुड सेमेरिटन के बैंक खाते में प्रोत्साहन राशि जमा कर दी जाएगी। एडीजी जनार्दन ने बताया कि गुड सेमेरिटन द्वारा दी गई जानकारी केवल अवॉर्ड प्रदाय के लिए उपयोग की जाएगी, अन्य किसी कार्य के लिए नहीं। एक गुड सेमेरिटन को वर्ष में अधिकतम 5 केस में इनाम दिया जाएगा।

भिंड: गोदाम प्रभारी को धमका दबंगों ने लुटी 30 बोरी यूरिया और DAP खाद, पुलिस ने की FIR

यह रहेगी पात्रता
कोई भी व्यक्ति जो मोटरयान सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को गोल्डन अवर में अस्पताल/ट्राॅमा केयर सेंटर तत्परता से पहुंचाकर जान बचाता है। ऐसे सभी व्यक्ति इस अवाॅर्ड के लिए पात्र होंगे। गोल्डन ऑवर अर्थात दुर्घटना होने के एक घंटे में गंभीर घायल व्यक्ति को मरने से बचाने के लिए चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराना।

प्रोत्साहन राशि
योजना में दिए दी जाने वाले अवाॅर्ड में 5 हजार रुपए नगद व प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा। यदि वाहन सड़क दुर्घटना में एक से अधिक गुड सेमेरिटन व्यक्ति की जान बचाते हैं, तो प्रोत्साहन राशि समान रूप से उनमें बांटी जाएगी।

राज्य से भेजे जाएंगे 3 केस
5 हजार रुपए के इनाम के अलावा केंद्र सरकार की तरफ से ऐसे 10 ऐसे जीवन रक्षकों को 1-1 रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। योजना के मुताबिक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों से उत्कृष्ट तीन-तीन प्रकरण प्राप्त कर परीक्षण किए जाएंगे। ऐसे 10 प्रकरण उत्कृष्ट सहायता के आधार पर चयनित कर जान बचाने वाले व्यक्ति को 1-1 लाख रूपए, प्रशस्ति-पत्र एवं एक ट्रॉफी परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा।

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply