जौनपुर में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए बदमाश के पास बरामद हुई AK 47.
जौनपुर में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए बदमाश के पास बरामद हुई AK 47.

जौनपुर में हुए पुलिस एनकाउंटर में 1 लाख रुपए के शातिर अपराधी सतीश सिंह प्रिंस को पुलिस ने ढेर कर दिया. दो सिपाही भी जख्मी हो गए. हालांकि घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया.
Advertisement

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में पुलिस ने मुठभेड़ में 1 लाख के इनामी बदमाश को मार गिराया है. जबकि उसका दूसरा साथी फ़रार हो गया. एनकाउंटर में दोनो बदमाशों द्वारा पुलिस पर AK-47 जैसे घातक अत्याधुनिक हथियार से गोली चलानें की बात सामनें आ रही है. जिसमे 2 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. हिस्ट्रीशीटर बदमाश सतीश सिंह प्रिंस पर करीब 2 दर्जन से अधिक लूट और हत्या जैसे संगीन अपराध के मामले दर्ज हैं. वहीं, बदमाश सतीश सजायाफ्ता कैदी था, जोकि बीते 12 सालों से फ़रार चल रहा था. फिलहाल, मुठभेड़ में घायल हुए पुलिसकर्मियों का जिला अस्पताल में इलाज जारी है.

बैतूल: महिला ने प्रेमी के साथ मिल की पति की हत्या,मुंह दबा चाकू से किए 19 वार

दरअसल, ये मामला जौनपुर जिले के सरपतहां थाना क्षेत्र के मानपुर ग़ैरवाह गांव का है. जहां पर बीते शुक्रवार को मुखबिर की सूचना पर SOG औऱ सरपतहां पुलिस ने घेराबंदी कर ली. पुलिस टीम से खुद को घिरता हुआ देख शातिर अपराधी सतीश सिंह प्रिंस अपनें साथी के साथ पुलिस टीम पर गोलियां बरसाने लगा, जिसमे 2 पुलिसकर्मी घायल भी हो गए. इस दौरान पुलिस टीम द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने उसे घायल कर दिया. जबकि दूसरा साथी फ़रार हो गया. वहीं घटना के बाद जिले के SP अजय साहनीं, और शाहगंज के DSP अंकित कुमार भी मौके पर पहुंचे. जिले से फोरेंसिक टीमों को भी बुलाया गया. हालांकि इलाज के लिए अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने सतीश को मृत घोषित कर दिया, जबकि दोनों घायल पुलिसकर्मियों के इलाज अस्पताल में जारी है.

AK-47, पिस्टल और भारी मात्रा में कारतूस बरामद

वहीं,जौनपुर जिले के सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के मानिया गांव के रहने वाले शातिर अपराधी सतीश सिंह प्रिंस के ऊपर कई दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं. हिस्ट्रीशीटर सतीश सिंह करीब 1 लाख का इनामियां और D-63 गैंग का सदस्य था. उसके पास से पुलिस ने मुठभेड़ मे एक AK-47, एक 9 MM पिस्टल, ढेर सारी गोलियां और एक बाइक बरामद की. आपको बता दें कि जौनपुर में पहली बार किसी अपराधी के पास से पुलिस ने AK-47 जैसा घातक व अत्याधुनिक हथियार बरामद किया है. सतीश जुर्म की दुनियां में बेखौफ होकर लगातार वारदातों को अंजाम देकर पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था. हालांकि शुक्रवार को पुलिस ने उसे एनकाउंटर में ढेर कर दिया.

क्राइम ब्रांच भोपाल को मिली बड़ी सफलता,मुख्यमंत्री निवास के नाम पैसे मांगने वाला कानपुर से गिरफ्तार

साल 2010 से पुलिस अभिरक्षा से फरार चल रहा था सतीश

बता दें कि जौनपुर जिले के शातिर बदमाश सतीश सिंह पर जौनपुर समेत कई जिलों में हत्या, लूट जैसे कई दर्जन मामले दर्ज हैं. सतीश हत्या के मामले में सजायाफ्ता कैदी था. वहीं, बीते साल 2010 में सतीश वाराणसी के चौबेपुर थानें से गैंगेस्टर एक्ट के तहत गाजीपुर में पेशी के दौरान पुलिस को चकमा देकर फ़रार हो गया था. जिसमे उसके ऊपर पुलिस द्वारा 5 हज़ार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था.

आरोपी बदमाश पर पर जौनपुर आजमगढ़ और वाराणसी में दर्जनों लूट-हत्या के मामले दर्ज

गौरतलब है कि पुलिस अभिरक्षा से फ़रार होनें के बाद भी सतीश सिंह बेख़ौफ़ होकर वारदातों को अंजाम देता रहा. ऐसे में साल 2019 में इसने सरायख्वाजा थाना क्षेत्र में स्कोर्पियो सवार कांट्रेक्टर लालजी यादव पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर निर्मम हत्या कर दी थी. इस मामले में भी वाराणसी परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक द्वारा सतीश पर 50 हज़ार रुपए का इनाम घोषित किया गया था. वहीं, साल 2020 में आजमगढ़ के बरदह थाना क्षेत्र में सर्राफ़ा व्यवसायी की दुकान में दिनदहाड़े डकैती को अंजाम देने से वाले सतीश पर SP आजमगढ़ द्वारा भी 25 हज़ार रुपए का इनाम घोषित किया गया था.

कांग्रेस के इस दिग्गज नेता का बड़ा बयान कहा-BJP को 50 सीट भी मिली तो करलेगें अपना मुंह काला

शातिर बदमाश सतीश सिंह पर जौनपुर आजमगढ़ और वाराणसी में दर्जनों लूट-हत्या के मामले दर्ज हैं. सरायख्वाजा थाना का हिस्ट्रीशीटर होनें के साथ ही D-63 गैंग का सदस्य भी था. हालांकि एनकाउंटर में घायल बदमाश की मौत होनें के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

जानिए क्या हैं पूरा मामला?

इस घटना के बाद जौनपुर के SP ने बताया कि सरपतहां थाना क्षेत्र में पुलिस टीम काम्बिंग कर रही थी उस दौरान बाइक पर सवार 2 लोगो को पुलिस नें रुकने के लिए कहा गया. इस दौरान दोनों बदमाशों द्वारा पुलिस टीम पर गोलियां चलाई गई, जिसमे 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए. जवाबी फायरिंग में एक बदमाश को गोली लगी उसका दूसरा साथी फ़रार हो गया. दोनों पुलिसकर्मियों और घायल बदमाश को प्राथमिक इलाज के बाद जिला अस्पताल रेफर किया गया, जिसमें डॉक्टरों ने घायल बदमाश को मृत घोषित कर दिया.

72 घंटे से छात्रों ने अधिकारियों को बनाया बंधक,हॉस्टल खोलने और ऑफलाइन एग्जाम कि मांग को लेकर प्रदर्शन जारी

मृतक सरायख्वाजा थाना क्षेत्र का रहनें वाला हिस्ट्रीशीटर है, उसके ऊपर कई जिलों में मुकदमे दर्ज हैं। मृतक सजायाफ्ता कैदी है जो 2010 में पेशी के दौरान गाज़ीपुर से फ़रार चल रहा था. बीते साल ष 2019 में लालजी यादव कांट्रैक्टर की हत्या की थी, 2021 में उस हत्याकांड में गवाह रहे ग्राम प्रधान की भी हत्या कर दी, सतीश के ऊपर कई जिलों में इनाम भी घोषित था, मुठभेड़ के दौरान एक बाइक, एक एके 47, एक पिस्टल, भारी मात्रा में कारतूस बरामद हुआ है. पुलिस अभी भी मृतक सतीश के फरार साथी की तलाश के लिए काम्बिंग कर रही है.

हमसे व्हाट्सएप ग्रुप पर जुड़े

खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

रोजगार की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply