महाराष्ट्र के किसान सूखे से परेशान हैं। सरकार ने उन्हें मुआवजा देने को कहा लेकिन अभी उनका मुआवजा माफ नहीं हुआ। सरकार की वादा खिलाफी और अपनी मांगों को लेकर गुरुवार को हजारों किसान विधानसभा कूच करेंगे

किसान स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करने की मांग कर रहे हैं। स्वामीनाथन रिपोर्ट में यह सुझाव दिया गया है कि जमीन और पानी जैसे संसाधनों तक किसानों की निश्चित रूप से पहुंच और नियंत्रण होना चाहिए। वे न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने और इसे लागू करने के वास्ते न्यायिक तंत्र की भी मांग कर रहे हैं। किसान कृषि संकट से निपटने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और राज्य में बीजेपी की सरकार द्वारा पिछले साल घोषित कर्ज माफी पैकेज को उचित तरीके से लागू करने, किसानों के लिए भूमि अधिकार और खेतिहर मजदूरों के लिए मुआवजे की मांग कर रहे हैं।

@शिखा

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply