सुशील कुमार मोदी का दावा, नीतीश कुमार नगर निकाय चुनाव लोकसभा और विधानसभा चुनाव तक टालने की कोशिश करेंगे!

सुशील कुमार मोदी का दावा, नीतीश कुमार नगर निकाय चुनाव लोकसभा और विधानसभा चुनाव तक टालने की कोशिश करेंगे!

Share this News

[ad_1]

पटनाः बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पिछड़ा, अति पिछड़ा विरोधी बताते हुए दावा किया कि वे अब नगर निकाय चुनाव को लंबे समय तक टालने की कोशिश करेंगे। सुशील कुमार मोदी ने कहा कि हो सकता है कि नीतीश कुमार आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव तक नहीं होने देंगे, इसलिए अब पिछड़ा, अति पिछड़ा वर्ग को सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन करने की जरूरत है।

पिछड़ा, अति पिछड़ा वर्ग से ज्यादा एम वाई पर भरोसा


बीजेपी सांसद सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार को पिछड़ा अति पिछड़ा विरोधी बताते हुए कहा कि उन्हें पिछडो से ज्यादा एम वाई (मुस्लिम-यादव) पर ज्यादा भरोसा है। उन्हें यह बात समझ में आ गई है कि पिछड़ा , अति पिछड़ा वर्ग अब उनका साथ छोड़ कर बीजेपी के साथ आ गई है।

रिव्यू पिटीशन फाइल करने से अति पिछड़ा चेहरा बेनकाब
सुशील मोदी ने कहा कि राज्य सरकार तो इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कर रही थी ? फिर पटना हाइकोर्ट में रिव्यू पिटीशन (पुनर्विचार याचिका) दायर करने का क्या औचित्य है ?उन्होंने कहा कि जिस हाईकोर्ट ने सरकार की नगर निकाय चुनाव की याचिका ख़ारिज कर दी, वो क्या राहत देगी ? उन्होंने यह भी संभावना जताई कि इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट से भी राहत नहीं मिलेगी।

Bihar Politics: ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर बीजेपी के साथ आना चाहते हैं’

बता दें कि बिहार में 10 अक्टूबर 2022 को स्थानीय निकाय के चुनाव होने वाले थे , लेकिन हाईकोर्ट के एक फैसले के बाद नगर निकाय चुनाव को स्थगित करना पड़ा है। कोर्ट ने अपने फैसले में स्पष्ट किया था कि प्रावधानों के अनुसार ओबीसी-इबीसी के लिए आरक्षण की अनुमति नहीं दी जा सकती है।

[ad_2]

Source link

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bhopal: आशा कार्यकर्ता से 7000 की रिश्वत लेते हुए बीसीएम गिरफ्तार Vaidik Watch: उज्जैन में लगेगी भारत की पहली वैदिक घड़ी, यहां होगी स्थापित मशहूर रेडियो अनाउंसर अमीन सयानी का आज वास्तव में निधन हो गया है। आज 91 वर्षीय अमीन सयानी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। इस बात की पुष्टि अनेक पुत्र राजिल सयानी ने की है। अब बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाएगा। इंदौर में युवाओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा..