शिलापट्ट पर नाम नहीं होना बीजेपी सांसद को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने भरी सभा में अपनी पार्टी के विधायक की जूते से धुनाई कर दी. वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

Advertisement

शिलापट्ट पर नाम नहीं होना बीजेपी सांसद को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने भरी सभा में अपनी पार्टी के विधायक की जूते से धुनाई कर दी. इस दौरान दोनों के बीच जम कर गालीगलौच भी हुई. विधायक भी चुप नहीं रहे, उन्होंने भी आगे बढ़कर इसका करारा जवाब दिया और दो चार हाथ सांसद महोदय को भी धर दिए.
संतकबीरनगर के कलेक्ट्रेट सभागार में बुधवार की शाम 5:00 बजे प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन की मौजूदगी में विकास कार्यों को लेकर बैठक हो रही थी. बैठक में उनके अलावा बीजेपी से सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल विधानसभा सीट से बीजेपी के विधायक राकेश बघेल भी मौजूद थे.

https://youtu.be/i-BhAUwxOp8

इसी दौरान शिलापट्ट पर नाम नहीं होने की बात पर बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और विधायक राकेश बघेल के बीच तू-तू, मैं-मैं शुरू हो गई. पहले तो सभी ने इसे सामान्य तरीके से लिया. लेकिन गुस्से से आग बबूला हुए सांसद शरद त्रिपाठी ने विधायक को ललकारा और गालियां देने लगे.
विधायक राकेश बघेल कुछ समझ पाते उसके पहले ही सांसद शरद त्रिपाठी उनके ऊपर जूते बरसाने लगे. अचानक हुए इस हमले से विधायक राकेश बघेल संभल नहीं पाए.

भरी बैठक में प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन और प्रशासनिक-पुलिस अधिकारियों के बीच खुद माननीय विधायक को सांसद द्वारा अपनी पिटाई रास नहीं आई. इसके बाद वे सांसद शरद त्रिपाठी की ओर लपके और उन पर जूते से वार किया.
इस दौरान ये घटना वहां मौजूद मीडियाकर्मियों के कैमरे में भी कैद हो गई. सोशल मीडिया पर भी लोग इस वीडियो को खूब शेयर कर रहे हैं. वहीं शीर्ष नेतृत्व मामले को मैनेज करने में जुटा है. लोकसभा चुनाव के पहले इस घटना ने जहां बीजेपी की किरकिरी कर दी है. तो वहीं विपक्षी पार्टियों को भी जनता को साधने का एक मौका मिल गया है.

@vicharodaya

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply