मध्य प्रदेश में डेढ़ दशक बाद सत्ता में आई कांग्रेस अपनी ताकत को बढ़ाने में लगी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भोपाल प्रवास के दौरान कांग्रेस भाजपा के कई बागियों को अपने साथ लाकर ताकत को और बढ़ाना का ख्वाब संजोए हुए हैं.

खास बातें

  • भोपाल दौरे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
  • जनसभा को करेंगे संबोधित
  • 15 साल बाद चुनाव जीती कांग्रेस मजबूत करेगी सियासी जमीन

मध्य प्रदेश में डेढ़ दशक बाद सत्ता में आई कांग्रेस अपनी ताकत को बढ़ाने में लगी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भोपाल प्रवास के दौरान कांग्रेस भाजपा के कई बागियों को अपने साथ लाकर ताकत को और बढ़ाना का ख्वाब संजोए हुए हैं. कांग्रेस की ओर से भी भाजपा के कई नेताओं के संपर्क में होने के दावे किए जा रहे हैं. कांग्रेस ने राज्य में सत्ता बहुजन समाज पार्टी (बसपा), समाजवादी पार्टी (सपा) और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से हासिल की है. कांग्रेस अभी खुद को पूरी तरह सहज महसूस नहीं कर पा रही है. इसी के चलते वह भाजपा में सेंधमारी की लगातार कोशिश कर रही हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज भोपाल के दौरे पर हैं. इस दौरान वे किसान रैली को संबोधित करने के साथ किसानों से संवाद भी कर सकते है.

मोदी सरकार को यूपी से उखाड़ फेंकने के लिए पूरी ताकत लगा देंगे : प्रियंका गांधी
कांग्रेस के नेता इस दौरान भाजपा के बागियों को कांग्रेस में लाकर अपने अंक बढ़ाने की कोशिश में लगे हैं. सूत्रों का दावा है कि विंध्य और महाकौशल क्षेत्र से आने वाले आधा दर्जन से अधिक विधायक कांग्रेस के संपर्क में हैं. भाजपा के बागियों में सबसे ज्यादा चर्चे पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया के हैं. कुसमरिया की मुख्यमंत्री कमलनाथ से एक दौर की बातचीत भी हो चुकी है. कुसमरिया का कहना है, “वे अपने समर्थकों से बातचीत कर रहे हैं. भाजपा अब नहीं रही, वह एक गुट बनकर रह गई है और इसी के चलते राज्य में बीजेपी की सरकार चली गई. भाजपा से बुंदेलखंड के पांच स्थानों में से किसी भी क्षेत्र से उम्मीदवार बनाने की मांग की थी, नहीं पूरी की तो सरकार ही नहीं बन पाई. ठीक वैसा ही हुआ, जैसा कौरव-पांडवों में हुआ था. पांडवों को पांच गांव नहीं दिए तो महाभारत हुआ.

#vicharodaya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here