भोपाल,थैलेसिमिया से पूर्ण निजात हेतु अब अवश्य हो गया है कि देश में विवाह से पूर्व थैलेसिमिया परीक्षण अनिवार्य किया जाए यह बात गैर सरकारी संगठन जीवन सार्थक सोशल एंड वेलफेयर सोसायटी द्वारा थैलेसिमिया माइनर निःशुल्क चैकअप शिविर में प्रमुख तौर से सामने आई

Advertisement

गोविंदपुरा स्थिति ए यू स्कूल में आयोजित शिविर में ब्लाइंड असोसिएशन एवं ए यू शाला के तीन सौ से अधिक बच्चों का थैलेसिमिया माइनर टेस्ट किया गया। जीवन सार्थक सोशल एंड वेलफेयर सोसाइटी के सचिव शैलेंद्र दुबे ने बताया कि समय रहते है थैलेसिमिया की जांच से इस बीमारी पर नियंत्रण पाया जा सकता है।
रक्षिता वेलफेयर सोसाइटी की चेयर पर्सन ब्रीज़ त्रिपाठी ने कहा कि इस तरह के आयोजन भावी पीढ़ी की रक्षा के लिए अत्यंत आवश्यक।

कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर विभांशु जोशी , रोहित श्रीवास्तव , डॉ राकेश भार्गव, शामिल हुए
शिविर के लिए महाराष्ट्र से देश भर में थैलेसीमिया निवारण कैंप लगाने वाले दादा तोलानी जी एवं टीम विशेष रूप से मुम्बई से पधारे ,

कार्यक्रम में स्कूली बच्चों एवं स्टाफ का दंत परीक्षण भी किया गया जिसके लिए डॉ प्रशांत ठाकुर एवं उनकी टीम ने सेवा प्रदान की थैलेसिमिया की जांच में जीवन सार्थक की ओर सेकार्यक्रम में शैलजा दुबे, श्रुति सोनी, मधुबाला पोरवाल, शुभम चौहान , सुनील यादव ,रविशंकर हरियाल, रजत, ए यू स्कूल के संचालक कलीम अख्तर एवं स्टाफ का विशेष योगदान था

जीवन सार्थक समूह स्कूल कॉलेज के छात्र-छात्राओं द्वारा बनाए गयी वह युवाओं की टोली है जो अपनी पढ़ाई के साथ साथ बचे हुए समय का सदुपयोग करते हुए बिना किसी आर्थिक सहायता के समाज सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय हैं इनके इसी निस्वार्थ कार्य करने के जुनून के कारण इस संस्था को कई बार राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply