ई टेंडर घोटाले मामले में पूर्व मंत्री और वर्तमान भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा का फिर बड़ा बयान सामने आया है। उनका कहना है कि सरकार के पास अगर तथ्य होते तो अब तक कत्थक कर रही होती। कमलनाथ सरकार की नीति डिले और डायवर्ट की है।

वही किसानों को लेकर मिश्रा ने कहा कि किसानो का कर्ज सरकार डिले कर रही है, बेरोजगारों को रोजगार भत्ता देने में डिले कर रही, हमारी सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में डिले कर रही। ई टेंडर प्रक्रिया में एक फाइल भी मंत्री के पास नहीं जाती उसमें बाबू और चपरासी के बैंक खाते उजागर कर रहे है।

https://youtu.be/AedYOe_WRgc

इससे पहले मिश्रा ने कमलनाथ सरकार को चुनौती देते हुए कहा था कि मैं सरकार से गुजारिश करुंगा कि ई-टेंडर घोटाले की पूरी तरह से जांच करे और अगर घोटाला 3 हजार करोड़ निकला जैसा की बताया जा रहा है, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा। जांच हमने शुरू की चाहे कोई भी मामला हो चाहे ई टेम्परिंग हो या डंपर घोटाला हो। यह छोटी मछलियों को पकड रहे है। बड़े अधिकारीयो को क्यों नही बुलाया जा रहा है, इनके पास कोई आधार या तथ्य नही है । EOW से भी झूठ बुलवाया जा रहा है, ताकि दबाब बने ।दबाब में काम न करे ।सरकारे आती जाती रहती है। मुझे क्यों टारगेट किया जा रहा है यह सब जानते है।बात निकलेगी तो दूर तक जाएगी।

@विचारोदय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here