गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालात बेहद नाजुक है. गोवा मुख्यमंत्री कार्यालय ने इस बात की पुष्टि की है. इस बीच उनके घर के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक उनका इलाज कर रहे डॉक्टर अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं. बता दें कि सीएम पर्रिकर हालत बिगड़ने के बाद शनिवार से ही अस्पताल में भर्ती हैं.

Advertisement

President of India

@rashtrapatibhvn

Extremely sorry to hear of the passing of Shri Manohar Parrikar, Chief Minister of Goa, after an illness borne with fortitude and dignity. An epitome of integrity and dedication in public life, his service to the people of Goa and of India will not be forgotten

उनके करीबी सहयोगी सिद्धार्थ कुनकोलियेंकर ने कहा कि राज्य सरकार के डॉक्टर उनकी स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए हैं. बता दें कि पर्रिकर के फरवरी 2018 में अग्नाशय कैंसर से पीड़ित हैं. मनोहर पर्रिकर की पहचान एक ईमानदार और सादगी भरा जीवन जीने वाले नेताओं में होती है. आईटीटी बॉम्बे से ग्रेजुएट पर्रिकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सक्रिय प्रचारक हैं. वह तीन बार से गोवा के मुख्यमंत्री हैं.

लम्बे समय से कैंसर से पीड़ित पर्रिकर ने विश्व कैंसर दिवस पर कहा था कि मानव मस्तिक किसी भी बिमारी पर जीत पा सकता है.

CMO Goa

@goacm

Chief Minister @manoharparrikar‘s health condition is extremely critical. Doctors are trying their best.

पर्रिकर की सेहत लगातार खराब होने के कारण गोवा, मुंबई और अमेरिका सहित कई जगहों के अस्पतालों में उनका इलाज हो चुका है. इसके बावजूद उनकी सेहत में सुधार नहीं दिखी. बीते कुछ दिनों से उनकी तबीयत में लगातार खराब होती चली गई. इस बीच गोवा में उनकी सरकार पर भी संकट बना हुआ है, क्योंकि शनिवार को कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया.

Rahul Gandhi (@RahulGandhi) Tweeted:
I am deeply saddened by the news of the passing of Goa CM, Shri Manohar Parrikar Ji, who bravely battled a debilitating illness for over a year.

Respected and admired across party lines, he was one of Goa’s favourite sons.

My condolences to his family in this time of grief.

पहले अमेरिका फिर एम्स में भी चला था इलाज

बता दें कि पर्रिकर सितंबर में अमेरिका से इलाज करवाकर भारत लौटे थे. अमेरिका में एक हफ्ते उनका इलाज चला था. इससे पहले एक बार और इलाज के लिए तीन महीने तक अमेरिका में रहे थे. अमेरिका से लौटने के बाद पिछले साल अक्टूबर के महीने में एक बार फिर उनकी तबीयत खराब हुई जिसके कारण उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. एक महीने एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए गोवा ले जाया गया था. गोवा में उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा था.

फरवरी 2018 में बीमारी का पता लगा था

पर्रिकर को फरवरी 2018 में एडवांस्ड पैन्क्रिएटिक (अग्नाशय) कैंसर होने का पता चला था. मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत अत्यंत नाजुक है. उनकी हालत में सुधार के लिए डॉक्टर अपनी सर्वश्रेष्ठ कोशिश कर रहे हैं.’ इस समय उनके निजी निवास पर उनका इलाज चल रहा है.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक पूर्व विधायक और पर्रिकर के करीबी सहयोगी सिद्धार्थ ने शनिवार को भी बताया था कि राज्य सरकार के डॉक्टर उनकी नियमित जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा था, ‘वर्तमान में उनके पास गोवा मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के डॉक्टर हैं. नियमित जांच की जा रही है, वह स्थिर हैं.’

2019 में मोदी का हारना तय.?

https://youtu.be/16ZXq8Y5jZ4

@vicharodaya

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply