Share this News

आगामी लोकसभा चुनावों से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली में हर हालात में कांग्रेस के साथ गठबंधन चाहते हैं लेकिन कांग्रेस मान नहीं रही है। बुधवार को केजरीवाल ने दिल्ली के चांदनीचौक में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वे गठबंधन के लिए कांग्रेस को मनाने में थक गए हैं लेकिन कांग्रेस है कि समझने को तैयार नहीं है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ विपक्षी दलों का सिर्फ एक उम्मीदवार होना चाहिए, वोट बटना नहीं चाहिए, उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस को गठबंधन के लिए मनाने में थक गए हैं लेकिन कांग्रेस है कि समझने को तैयार नहीं। केजरीवाल ने कहा कि अगर कांग्रेस के साथ उनका गठबंधन हो जाता है तो दिल्ली की सभी 7 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की हार होगी।

Delhi CM in Chandni Chowk y’day: There should be only 1 candidate against every BJP candidate,votes must not be divided.Tired of trying to convince Congress for alliance,but they refuse to understand. If today our alliance with Congress is done, BJP will lose all 7 seats in Delhi

@ani

2014 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली की सभी 7 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की जीत हुई थी जबकि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था। 2014 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली में 82.71 लाख से ज्यादा वोट पड़े थे

https://youtu.be/YSBQUlbnLwo

जिसमें से भारतीय जनता पार्टी को 38.38 लाख से अधिक वोट मिले थे जबकि आम आदमी पार्टी को 27.22 लाख और कांग्रेस को 12.53 लाख वोट प्राप्त हुए थे।

@vicharodaya