पाकिस्तान में होली के मौके पर अगवा की गई दो हिंदू लड़कियों का मामला अब और गरमा गया है.

इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने मंगलवार सुबह प्रशासन को आदेश दिया है कि लापता दोनों हिंदू लड़कियों को जल्द से जल्द ढूंढा जाए. कोर्ट का कहना है कि दोनों लड़कियों को सरकारी कस्टडी में रखा जाए. बता दें कि बीते दिनों ही इस मामले के सामने आने के बाद भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के मंत्री से बात की थी.

इस मामले को लेकर हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी, जिस पर मंगलवार को सुनवाई हुई और कोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार किया.

बता दें कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में होली के मौके पर दो हिंदू लड़कियों को किडनैप कर लिया गया था. अपहरण की घटना के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसमें दिख रहा है कि एक मौलवी कथित तौर पर इन दो लड़कियों का निकाह करवा रहा है. एक दूसरे वीडियो में, नाबालिग लड़कियां कह रही है कि उन्होंने अपनी मर्जी से इस्लाम कुबूल कर लिया है

सुषमा स्वराज

Mr.Minister @fawadchaudhry – I only asked for a report from Indian High Commissioner in Islamabad about the kidnapping and forced conversion of two minor Hindu girls to Islam. This was enough to make you jittery. This only shows your guilty conscience. @IndiainPakistan

वीडियो वायरल होने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान में मौजूद भारतीय उच्चायोग से रिपोर्ट तलब की थी. इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तान के मंत्री को भी ट्विटर पर लताड़ लगाई थी. पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग करते हुए कहा कि यह पाकिस्तान का आतंरिक मामला है न कि नरेंद्र मोदी के भारत का. इसके जवाब में सुषमा ने कहा कि आपकी घबराहट दिखाती है कि आप अपराध बोध से ग्रसित हैं.

अभिनदंन से पहले नचिकेता को पकड़ा था पाकिस्तान,क्या होती है जिनेवा संधि,क्यो नही मानता पाकिस्तान..?

https://youtu.be/dktkP8r3TN4

भारत की कड़ी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में इस मामले में एक्शन शुरू हो गया है. स्थानीय रिपोर्ट्स की मानें तो अभी तक इस मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

@vicharodaya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here